होम पेज रेडियो वाटिकन
रेडियो वाटिकन   
more languages  

     होम पेज > कलीसिया >  2013-10-09 13:40:11
A+ A- इस पेज को प्रिंट करें



9 अक्तूबर 2013



श्रोताओं के पत्र
पत्र- 16.9.13
फादर सिप्रियन खलखो, कैम्पबेल बे।
श्रद्धेय फादर जस्टिन, प्रिय सिस्टर उषा एवं जुलिएट ख्रीस्टोफर, आप तीनों को मेरा सादर प्रणाम, वैसे तो मुझे रोज के प्रकाशन पर कुछ लिखने की इच्छा होती है और उनके बारे में कई बार सोचता हूँ, कभी-कभी उन्हें पुनः सुन भी लेता हूँ, परन्तु आज 16 सितम्बर को बिना लिखे अपने को नहीं रोक सकता। जब मैंने नई दिशाएँ एवं चेतना जागरण सुना। नई दिशाएँ कार्यक्रम के अंतर्गत डॉ. देवेन्द्र जी के साथ भेंटवार्ता अत्यंत प्रेरणादायक थी। मुझे डॉक्टर जी की दो बातें बहुत अच्छी लगीं-
1.हमें भौतिकतावाद से दूर रहते हुए ईश्वर के विश्वास में आगे बढ़ने के साथ-साथ मनुष्यों के साथ भी प्रेम का जीवन बिताना चाहिए।
2.हर धर्म ईश्वर से जोड़ने के लिए है एवं उसे थोपा नहीं जाना चाहिए।
मुझे आज प्रसारित माइकेल होजेस का नाटक सुपात्र भी बहुत अच्छा लगा। इसे सुनने के बाद मैंने अपने आपसे कहा, सिप्रियन दयालु जरुर बनो लेकिन धोखेबाजों से सावधान।

पत्र -2.8.13
डॉ. हेमंत कुमार, गोराडीह भागलपुर बिहार से प्रियदर्शिनी रेडियो लिस्नर्स क्लब के अध्यक्ष।
‘वॉइस ऑफ हार्ट’
सुप्रभात, होंठो पे कभी न कोई सवाल रखियेगा, जिन्दगी को हर पल खुशबहाल रखियेगा, जिन्दगी तो नाम ही है परेशानियों का, इन्हें भूलकर बस अपने लायक रखियेगा। ईश्वर आपको आशीष दे।

पत्र - 30.9.13
चुन्नीलाल कैवर्त, छत्तीसगढ़ स्थित बिलासपुर के टेंगनमाड़ा से ग्रीन पीस डी-एक्स क्लब सोनपुरी के अध्यक्ष।
प्रिय महोदय/महोदया,
वाटिकन रेडियो, हिंदी सेवा में कार्यरत सुश्री जूलयेट क्रिस्टफ़र को उनकी विशिष्ट सेवा के लिए सम्मानित किये जाने का समाचार पाकर हम श्रोताओं को बेहद ख़ुशी हुई। सचमुच सुश्री जूलयेट एक समर्पित रेडियो कर्मी और संत पापा के प्रेम, शान्ति, सद्भाव के सन्देश को मीडिया के माध्यम से हिंदी भाषियों तक संप्रेषित करने वाली ईमानदार और मेहनती कार्यकर्ता हैं। इस शुभ अवसर पर हम सभी श्रोता गौरव का अनुभव कर रहे हैं और सुश्री जूलयट क्रिस्टफ़र जी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ प्रेषित करते हैं।
पत्र -3.8.13
डॉ. हेमंत कुमार, गोराडीह भागलपुर बिहार से प्रियदर्शिनी रेडियो लिस्नर्स क्लब के अध्यक्ष।
प्यार का बंधन, भरोसे का आदर्श, दुःख में एक सहारा, अंधेरा में एक हाथ, धारण करने के लिए एक ख़ास संबंध, एक कान जो गुप्त में सुन सके, प्रोत्साहन के लिए प्रशंसा, कुछ ऐसा जिसका कोई दाम न लगता हो। एक शृंगार जो कभी न खोये, यह जादू है मित्र। मित्रता दिवस मुबारक हो, ईश्वर आपको आशीष दे।


Usha Tirkey


कांदिविदी






हम कौन हैं? समय-तालिका सम्पादकीय मंडल के साथ पत्राचार वाटिकन रेडियो की प्रस्तुति सम्पर्क अन्य भाषाएँ संत पापा वाटिकन सिटी संत पापा की समारोही धर्मविधियाँ
All the contents on this site are copyrighted ©. Webmaster / Credits / Legal conditions / Advertising