होम पेज रेडियो वाटिकन
रेडियो वाटिकन   
more languages  

     होम पेज > कलीसिया >  2014-04-23 14:01:54
A+ A- इस पेज को प्रिंट करें



23 अप्रैल 2014



श्रोताओं के पत्र
पत्र- आदरणीय पिताजी प्रभु येसु के नाम पर आप सभी को हार्दिक नमस्कार। पास्का महापर्व
आप सभी के लिए मंगलमय हो|
विद्यानन्द रामदयाल, पियर्स मोरिसस।

पत्र- महाशय, नमस्कार! परम सम्मान के साथ सहर्ष सूचित करना है कि मैँ वाटिकन रेडियो का नियमित, पुराना तथा जागरुक श्रोता हूँ। आपके द्वारा प्रसारित सभी कार्यक्रम शांतिदायक,ज्ञानवर्द्धक, शिक्षाप्रद, प्रेरणादायक और सारगर्भित होते हैँ। कार्यक्रम प्रस्तुतिकरण शैली तथा प्रसारण गुणवत्ता उच्च स्तर के हैँ इसलिए कार्यक्रम सुनकर नियमित पत्र लिखने का प्रयास करता हूँ। आपके फेसबुक और वेबसाइट भी बहुत अच्छे लगते है। 10 फरवरी को शाम की सभा मेँ जस्टीन तिर्की तथा उषा तिर्की द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम-'संत पापा का संदेश' मेँ पर्वत प्रवचन तथा विश्व रोगी दिवस पर संक्षिप्त मेँ जानकारी दिया गया तथा भक्ति गीत-मुझे अपना दीदार और पहचान दे दो... सुना। प्रस्तुत कार्यक्रम प्रेरणादायक तथा शांतिदायक लगा। वाटिकन रेडियो परिवार को हार्दिक। धन्यवाद!
हेमन्त कुमार, प्रियदर्शनी रेडियो लिस्नर्स, गोराडीह भागलपुर।

पत्र- आदरणीय फादर, प्यार व स्नेह। वाटिकन रेडियो द्वारा प्रसारित सभी कार्यक्रम का मैं नियमित श्रोता हॅूं। रविवारीय धर्मग्रंथ, सामयिक लोकोपकारी चर्चा और आराधना विधि-चिंतन, तो गागर में सागर जैसा है। साथ ही, संत पापा फ्राँसिस के मूल्यवान संदेश सुनकर नया जीवन प्राप्त होता है। वाटिकन रेडियो को सुनकर सकारात्मक चिंतन के साथ-साथ इच्छा शक्ति एवं सतत् कार्यशीलता का प्रयोग करना चाहिए। श्रोताओं को वाटिकन रेडियो से समस्त शक्तियों का स्रोत ‘इच्छा शक्ति’ प्राप्त होता है। यह मेरा मानना है। मैं तो वर्षों से वाटिकन रेडियो सुन रहा हॅूं। आपके द्वारा पत्रिका, कलेन्डर आदि सामग्रियाँ प्राप्त नहीं हुई हैं। मैं वाटिकन रेडियो का प्रचार व प्रसार श्रोताओं में कर रहा हॅूं।
दीपक कुमार दास, अपोलो रेडियो लिस्नर्स, ढोली सकरा बिहार।

पत्र- सेवा में, श्रोताओं के पत्र कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले भाई-बहन जी को हमारे तरफ से प्यार भरा नमस्कार।
रचना - ज्ञान के मोती
जीतने के लिए कोइ चीज है तो - प्रेम
पीने के लिए कोइ चीज है तो - क्रोध्
खाने के लिए कोइ चीज है तो - गम
देने के लिए कोइ चीज हे तो - दान
दिखाने के लिए कोई चीज है तो - दया
लेने के लिए कोइ चीज है तो - ज्ञान
कहने के लिए कोइ चीज है तो - सत्य
रखने के लिए कोई चीज है - इज्जत
फेंकने के लिए कोई चीज है तो - ईष्या
छोड़ने के लिए कोई चीज है तो – मोह
रामबिलास प्रसाद, सियोन रेडियो लिस्नर्स क्लब के अध्यक्ष, कृतपुर मठिया, पू. चम्पारण।




कांदिविदी






हम कौन हैं? समय-तालिका सम्पादकीय मंडल के साथ पत्राचार वाटिकन रेडियो की प्रस्तुति सम्पर्क अन्य भाषाएँ संत पापा वाटिकन सिटी संत पापा की समारोही धर्मविधियाँ
All the contents on this site are copyrighted ©. Webmaster / Credits / Legal conditions / Advertising